Iron ki kami (Anemia) kya hoti hai,कारण लक्षण और घरेलू उपचार

Anemia क्या होती है ? जब आप के शारीर में मौजूद red blood cells या (RBCs) में haemoglobin की मात्रा कम हो जाए तब आपको anemia हो सकती है।

Haemoglobin एक तरह की protien है जो आपके शारीर के RBCs में मौजूद होती है। इसके कारन आपके सह्रीर के नसों और tissue तक oxygen पौचती है।

Anemia या शारीर में Iron ki kami क्या होती है?

शारीर में iron की मात्रा कम हो जाने के कारन anemia का होना एक आम समस्या हो सकती है। आपके सह्रीर को haemoglobin नामक protien बनाने के लिए iron की जरुरत पड़ती है।

तो जब आप के खून में iron की मात्रा कम हो जाती है तब शारीर के दुसरे हिस्सों में oxygen पर्याप्त मात्रा में नहीं पौंच पाता है।

Iron की कमी (Anemia) क्या होती है,कारण लक्षण और घरेलू उपाय

महिलाओं में बच्चे को जन्म देने की उम्र में या ज्यादा मात्रा में माहवारी के कारन anemia की समस्या पाए जाते है। इसका कारन है शारीर से अधिक मात्रा में खून का बह जाना।

आपके शारीर को सही diet ना मिलने पर या फिर पेट के अन्दर कुछ समस्या होने के कारन आपका शारीर सही मात्रा में iron नहीं ले पाता है। जिस कारन anemia हो सकती है।

Doctors इस समस्या को रोकने के लिए iron supplements दे कर या फिर सही diet लेने की सलाह देते है।

Anemia के लक्षण

शरीर में बहुत ही कम लक्षण anemia के लक्षण देखे जाते है जिस कारन लोग इसे नजर अंदाज कर देते है। पर कभी कभी समस्या गंभीर हो सकते है। और इस समय आपको निचे दिए गए anemia के लक्षण देखने को मिल सकती है। तो anemia के लक्षण है –

  • थकान
  • कमजोरी
  • त्वचा पीली पड़ जाना
  • सांस फूलना
  • सर चकराना
  • धुल, मिटटी, या बर्फ खाने की चाह होना
  • पांव में झुन्झुनावट महसूस करना
  • जुबान पर किसी तरह के घाव होना या फुल जाना
  • हाथ पांव ठंडा पड़ जाना
  • तेजी से दिल धड़कना
  • नाखून टूट जाना
  • सर में दर्द होना

Anemia के कारण

शारीर में iron की मात्रा में कमी anemia के कारन हो सकता है। इसके आलावा भी कही और कारन हो सकते है जैसे –

सही मात्रा में Iron ki kami

जिस भोजन में बहुत ही कम मात्रा है iron मौजूद हो ऐसे भोजन करना भी anemia के कारन हो सकती है। मांस, अंडे, या हरे पत्तो वाले सब्जिओं में iron की मात्रा ज्यादा होती है।

क्यूंकि iron शारीर के बिकाश में मदद करती है और गर्ववती महिलाओं के लिए भी बहुत जरुरी होते है इसलिए आपने diet में iron वाले खाने की मात्रा बढानी चाहियें।

प्रेगनेंसी या माहवारी के दौरान रक्तपात होना

बहुत ज्यादा मात्रा में माहवारी का होना या महिलाएं जो बच्चो का जन्म दे रही है, उनके लिए iron की मात्रा सही होने की बहुत ही जरुरत होती है। क्यूंकि शारीर से बहुत ज्यादा खून बह जाते है और यह anemia के कारन हो सकती है।

शारीर के अन्दर bleeding होना anemia के कारन है

किसी शारीरिक बीमारी के कारन किसी किसी ब्यक्ति को शारीर के अन्दर bleeding होती है। जैसे पेट के अन्दर किसी भी हिस्से में ulcer होना, या कोई gastric surgery होने के कारन भी शारीर के अन्दर खून बह सकते है। इससे anemia होने की संभावना होती है। हो शारीर को सही मात्रा में iron की जरुरत पड़ती है।

anemia causes in hindi

Endometrosis anemia के कारन हो सकते है

कही महिलाओं को endometrosis नामक बीमारी होती है जिसमे शारीर के अन्दर बहुत ज्यादा मात्रा में खून बह जाते है जो बाहर से हमेशा दिखाई नहीं पड़ती। जो की anemia के कारन हो सकती है।

Anemia की जांच

खून की परिक्षण के माध्यम से ही डॉक्टर anemia होने की पाता लगा लेते है। anemia जांच करने के लिए CBC नामक परिक्षण की जाती है।

इससे जांच से डॉक्टर को यह पाता चल जाता है की आपके शरीर में iron की मात्रा क्या है, आपकी RBCs की आकार या रंग क्या है, आपके शरीर का ferritin level और आपके शरीर का total iron binding capacity (TIBC ) क्या है।

Anemia ( khoon ki kami) का इलाज

Iron tablets लेने पर आपके शारीर में iron की मात्रा बड सकती है। iron tablets को खाली पेट लेने से ज्यादा असरदार साबित हो सकता है।

पर अगर आपको पेट की गड़बड़ी की समस्या है तो आप खाने के बाद iron tablets ले सकते है। iron tablets लेने से आपको constipation हो सकती है या फिर आपका मल का रंग काला हो सकता है।

Iron tablets के साथ साथ आपको अपने शारीर में iron की मात्रा को स्वाभाविक रखने के लिए एक अच्छी diet भी लेनी होगी। कुछ ऐसे भोजन है जिसे लेने पर anemia का इलाज हो सकती है और शारीर में Iron ki kami नहीं होगी।

anemia treatment in hindi

लाल मांस, अंडे, हरे पत्ते वाले सब्जियां, dry fruits, बादाम, दाल, broccoli, फुल गोभी, और टमाटर आदि चीजो में iron की मात्रा अधिक होता है।

डॉक्टर आपको iron tablets के साथ साथ एक गिलास संतरे या निम्बू के रस भी पीने की सलाह दे सकते है। क्यूंकि इनमे vitamin c होता है जो की बहुत असरदार anemia का इलाज होती है।

कभी कभी ऐसा भी हो सकता है की आप खुद से anemia का इलाज ठीक से ना कर पायें। क्यूंकि iron tablets अतिरिक्त मात्रा में भी नहीं लेनी चाहिए जिससे शारीर में iron की मात्रा बहुत ज्यादा बड जाएँ।

ज्यादा iron की मात्रा हो जाने पर आपके liver को नुक्सान पौंच सकता है, और आपको constipation की समस्या भी हो सकती है। तो अगर आपको anemia के लक्षण दिखे तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर ले।

About Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy
Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

Eyebrow Growth Tips at Home Hindi

आइब्रो को काला और घना करने का 10 आसान घरेलू उपाय

Eyebrow Hair Growth Tips In Hindi: आपका eyebrows ही आपके चेहरे की सुन्दरता को बढाता ...

Alopecia Ka Desi Ilaj in Hindi

ऐलोपेशीया ऐरेटा (कीड़ा लगना) का देसी इलज और घरेलु उपचार

Alopecia Ka Desi Ilaj in Hindi: एलोपेसिया एक ऐसी समस्या है जिसमे आपके सर के बाल ...