दमा (Asthma) बीमारी के लिए कारगर हैं ये 9 आयुर्वेदिक इलाज

Dama Ki Bimari Ka Ayurvedic Ilaj: दमा (asthma) होने पर सांस लेने में दिक्कत होता है। और ये एक बहुत ही तकलीफ देने वाली समस्या है। दमा तब होती है जब हमारे फेंफड़ो में किसी तरह के रुकावट के कारन oxygen ठीक से नहीं पौंच पाता।

फेंफड़ो में oxygen सही मात्रा में ना पौंच पाने के कई वजह हो सकते है जैसे allergy, वायु प्रदुषण, सांस नाली में infection, मौसम के वजह से , या फिर कोई खाने की चीज या दवाई के वजह से।

dama ka ilaj ka gharelu upchar

हालाँकि दमा बीमारी ठीक करने के कई इलाज उपलब्द है। पर प्राकृतिक तरीके से Dama Ka Ilaj करना फायदेमन हो सकता है।

दमा को ठीक करने के प्राकृतिक इलाज – Dama Ka Ilaj Ki Ayurvedic Upchar

क्यूंकि लम्बे समय तक दवाई लेने से उसका कोई ना कोई side effects जरुर होता है। इसलिए आज हम आपको दमा (asthma) की समस्या को ठीक करने के कुछ असरदार घरेलु नुस्के बातायेंगे। तो आईये जान लेते है वो प्राकृतिक इलाज क्या है ?

सरसों का तेल – Mustard Oil Se Dama Ka Ayurvedic Upchar

Mustard Oil

सरसों के तेल के साथ कपूर मिलाके इस्तेमाल करने से दमा की समस्या से राहत मिल सकता है। इस तेल को हल्का गरम करे और अपने सीने में अच्छे से मालिश करे। इससे आपको तुरंत आराम मिलेगा।

युकलिप्टुस का तेल – Eucalyptus Oil Hai Dama Ka Gharelu Ilaj

Dama ka ilaj करने के लिए eucalyptus के तेल का इस्तेमाल फायदेमन साबित हो सकता है। एक कटोरी में पानी को उबाले और उसमे कुछ eucalyptus oil की बूंदे डाले।

Eucalyptu

अब इस कटोरी के ऊपर अपने सर को रख कर उसका भाप ले। इससे आपको सांस लेने में आसानी होगी और आपके बंद नाक भी खुल जायेंगे। यह भी पढ़ें: Saans Phoolna रोकने के लिए अपनाये यह चमत्कारी 5 घरेलू इलाज

ओमेगा -3 फैटी एसिड – Omega 3 Fatty Acid Asthma Treatment In Hindi

Omega3 fatty acids का इस्तेमाल किसी भी तरह के अन्ध्रुनी सुजन को आसानी से ठीक करते है। दमा की समस्या को खत्म करने के लिए इसका इस्तेमाल लाभदायक हो सकता है।

इसके अलावा heart की बीमारी, depression (मानसिक रोग), जैसे बिमारिओं को भी ठीक करने का अच्छा इलाज है।

अदरक – Saans Ki Bimari Chutkara Paye Ginger  Se

अदरक का इस्तेमाल हमारे शारीर की किसी भी तरह के समस्या को ठीक करने के लिए बहुत असरदार होता है। दमा की बीमारी को खत्म करने के लिए भी अदरक का इस्तेमाल अच्छा होता है।

Ginger

अदरक, शहद, और अनार का रस मिलाकर एक मिश्रण तैयार करे। और इसे दिन में २ से ३ बार पीये। इससे आपको दमा की बीमारी से राहत मिलगी।

होंठों का व्यायाम – Lip Exercise Se Kare Asthma Ka Jad Se Ilaj

ये excercise दमा के गंभीर समस्या को ठीक करने के लिए बहुत असरदार साबित हो सकता है। इसमें आपको अपने नाक से सांस को अन्दर लेना है और मुह से छोड़ना है।

सांस छोड़ते समय अपने होंठो को ऐसे बनाकर रखे जैसे आपका होंठ सिटी बजाते वक़्त रहता है। और धीरे धीरे सांस ले और छोड़े।

अंजीर – Dama Ke Gharelu Upay Hai Fig

Fig

दमा (asthma) की तकलीफ से राहत पाने के लिए अंजीर का इस्तेमाल बहुत ही लाभदायक होता है। कुछ सूखे अंजीर को रात भर पानी में भिंगोकर रखे।

सुबह इस अंजीर को खा ले साथ में अंजीर वाले पानी को भी पी ले। आप इसे पढ़ सकते हैं: सूखी खांसी से तुरंत राहत पाने के सबसे पावरफुल इलाज

बसंती गुलाब – Use Evening primrose oil hindi

Primrose oil में मौजूद fatty acids dama ka ilaj के लिए अच्छा होता है। इसके इस्तेमाल से आपको दमा की समस्या से आसानी से राहत मिलती है।

कॉफ़ी – Dama Ki Bimari Ka Ilaj Kare Coffee Se

Coffee में मौजूद caffeine नामक उपादान दमा की बीमारी का असरदार इलाज है। इससे आपके बंद नाक भी आसानी से खुल जाते है और आप आराम से सांस ले पाते है।

अगर आपको coffee पसंद नहीं है तो आप black tea ( बिना दूध के चाय) भी पी सकते है। पर इसका इस्तेमाल दिन में २ से ३ बार ही करे।

पेट और साँसों का व्यायाम – Buteyko Breathing Exercises in Hindi

इस excercise को करने के लिए आपको सीधा बैठना होगा और अपनी आँखें बंद रखनी होगी। अब जब आप सांस अन्दर की तरफ लेंगे तो आपका पेट बहार की तरफ होगा।

और जब आप सांस बहार छोड़ेंगे तो आपका पेट अन्दर की तरफ होगा। इमे आपको अपने मुह को बंद करके नाक से सांस लेना और छोड़ना पड़ेगा।

सांस को अन्दर खींचकर जितना देर हो सके दबाकर रखे फिर धीरे धीरे सांस को छोड़े। इसे करने से आपको दमा (asthma) के कारन सांस लेने की तकलीफ से राहत मिलेगी।

तो ये था आपके लिए dama ka ilaj ka gharelu upchar और दमा की बीमारी को ख़त्म करने के कुछ असरदार और घरेलु नुस्के। दमा की समाया होने पर इनका इस्तेमाल जरुर करे।

और क्यूंकि ये प्राकृतिक इलाज है तो इनका कोई side effects भी नहीं होती। पर ध्यान रखे समस्या गंभीर होने पर डॉक्टर के पास जरुर जाए। क्यूंकि ऐसे हालात में दमा जान लेवा भी हो सकता है।

Image License : pexels.compixabay.com under Creative Commons License

About Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy
Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

Eyebrow Growth Tips at Home Hindi

आइब्रो को काला और घना करने का 10 आसान घरेलू उपाय

Eyebrow Hair Growth Tips In Hindi: आपका eyebrows ही आपके चेहरे की सुन्दरता को बढाता ...

Alopecia Ka Desi Ilaj in Hindi

ऐलोपेशीया ऐरेटा (कीड़ा लगना) का देसी इलज और घरेलु उपचार

Alopecia Ka Desi Ilaj in Hindi: एलोपेसिया एक ऐसी समस्या है जिसमे आपके सर के बाल ...