सर्जरी के बिना बंद फैलोपियन ट्यूब खोले का तारिका

Without Surgery Fallopian Tube Kholne Ka Tarika: महिलाओं के बांझपन का या बच्चे न होने का सबसे प्रमुख कारन होता है fallopian tube का बंद हो जाना। fallopian tube महिलाओं के प्रजनन प्रणाली का वो हिस्सा है, जहाँ गर्भाशय से अंडे निकालकर fallopian tube में से गुजरते है, शुक्राणु से मिलन होने से पहले।

तो अगर fallopian tube ही किसी वजह से बंद हो जाए तो अंडे शुक्राणु से नहीं मिल पाते। जिस कारन वो महिला गर्ववती नहीं बन पता।

Fallopian tube के बंद हो जाने के कई कारन हो सकते है जैसे ectopic pregnancy ( tube में भ्रूण का बड़ना ) , pelvic inflammatory disease (PID) , uterine fibroids ,आदि। पर fallopian tube को खोलने के कई प्राकृतिक इलाज उपलब्द है।

Fallopian Tube Kholne Ka Tarika

फॉलोपियन तुबे को खोलने का तरीका –Fallopian Tube Blockage Treatment without Surgery in Hindi

लग भग 40% महिलाये fallopian tube के बंद होने के कारन गर्ववती नहीं बन पाते है। तो अगर आपको बंद fallopian tube की समस्या है तो इन प्राकृतिक और घरेलु नुस्के का इस्तेमाल जरुर करे।

विटामिन सी – Vitamin C Se Fallopian Tube Ko Kaise Khole

Vitamin c हमारे शारीर के रोग प्रतिरोध छमता को बढ़ाते है और साथ ही खाने में से iron को लेने में मदद करते है। तो अगर किसी तरह के infection के कारन आपका fallopian tube बंद हो गया है तो अपने खाने vitamin c मौजूद चीजे जरुर रखे।

आप संतरे, निम्बू, अंगूर, strawberries, और broccoli जैसी चीजे खा सकते है, जिसमे vitamin c पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते है।

लहसुन – Garlic for Fallopian Tube Blockage Treatment In Hindi

लहसुन में प्राकृतिक रूप से bacteria को ख़त्म करने वाले उपादान मौजूद होते है। जो हमारे शारीर में रक्त संचालन को स्वाभाविक रखते है।

garlic khali pet lahsun khane ke fayde

साथ ही fallopian tube में होने वाले किसी भी तरह के घाव को ठीक करके बंद fallopian tube को खोलने में मदद करते है।

अदरक, दालचीनी, और हल्दी – Ginger, Cinnamon, and Turmeric

अदरक, दालचीनी, और हल्दी का इस्तेमाल भी किसी भी तरह के सुजन को आसानी से ठीक करते है। ये रक्त संचालन को भी बढ़ाते है, और साथ ही fallopian tube को बंद हो जाने से रोकते है। आप इन सब चीजो को पानी में उबालकर भी पी सकते। यह भी पढ़ें: अदरक की चादर बनाकर कैसे १ रात में Pet Ki Charbi Kam Kare

योग – Without Surgery Fallopian Tube Kholne Ke Liye Yoga

योग करने से हमारे शारीर के तरह के बीमारियाँ आसानी से ठीक हो जाते है। किसी तरह के infection , सुजन या घाव का निशान fallopian tube के बंद हो जाने कारन होते है।

ramdev baba yoga kapalbhati

इसलिए योग करने से ये सब समस्याएँ ख़त्म हो जाते है और आपका tube खुल जाता है। ( विपरीत करनी और सेतु बंधसना ) ऐसे दो तरह के योग होते है, जो बंद fallopian tube को खोलने के लिए फायदेमन साबित हो सकते है। यह भी पढ़ें: कपालभाति प्राणायाम कितने मिनट करना चाहिए और इसके फायदे

उप्जाऊपन को बढाने के लिए मालिश – Fallopian Tube Blockage Massage in Hindi

उप्जाऊपन को बढाने के लिए किये जाने वाले मालिश बंद fallopian tube को खोलने में असरदार साबित हो सकता है। उपजाऊपण को बढाने लिए मालिश इस तरह किया जाता है।

  • पहले सीधा पीठ के साहारे लेट जाएँ और पीठ के निचले हिस्से में एक तकिया रख दे।
  • अब अपने पेट के निचले हिस्से को हल्का गरम olive oil, almond oil या lavender oil से मालिश करे।
  • मालिश करने के दोरान अपने श्रोणि क्षेत्र को अपने नाभि के पास लाये जहाँ आपका uterus मौजूद होता है।
  • अपने श्रोणि क्षेत्र को १० मिनट तक अपने नाभी के पास पकड़ कर रखे।
  • Fallopian tube को kholne के लिए हर रोज मालिश करे और साथ ही इस excercise को भी करे।

एक्यूप्रेशर – Acupressure for Fallopian Tube Blockage in Hindi

Acupressure भी acupuncture की तरह ही होता है पर इसमें सुईं का इस्तेमाल नहीं होता। बंद fallopian tube को खोलने के लिए acupressure का इस्तेमाल असरदार साबित हो सकता है।

Acupressure करना जानता हो ऐसे ब्यक्ति से ही acupressure करवाए। आप इसे पढ़ सकते हैं:  बिना दवा के सिरदर्द से छुटकारा पाने का पावरफुल घरेलु इलाज

रेंड़ी का तेल – Castor Oil Se Fallopian Tube Ko Kholne Ka Tarika

अपने पेट के निचले हिस्से को castor oil से मालिश करना बंद fallopian tube को खलने के लिए फायदेमन होता है।

Castor oil

आप castor oil अपने पेट के निचले हिस्से पर लगाकर रात भर ऐसे छोर सकते है। जल्द परिणाम पाने के लिए आपको इसका इस्तेमाल २ महीनो तक लगातार करना है।

तो ये था आपके लिए fallopian tube kholne ke gharelu nuskhe और कुछ आसान और प्राकृतिक इलाज। क्यूंकि ये नुस्के प्राकृतिक है तो इनका कोई side effects भी नहीं होती।

पर इन घरेलु इलाज के साथ ही doctor से जांच करवाना जरुरी है। ताकि आप आसानी से जल्द ही बच्चे को जन्म दे पाए।

Image License : pexels.compixabay.com under Creative Commons License

About Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy
Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

polycystic-ovary-syndrome-pcos-ka-ilaj-hindi

PCOS क्या है? क्या पीसीओएस से छुटकारा पाना संभव है

PCOS (polycystic ovarian syndrome) एक ऐसी समस्या है जिसका प्रभाव महिलाओं के शारीर में मौजूद ...

abortion k kitne din baad period aata hai

Period After Miscarriage Hindi: गर्भपात के बाद पीरियड कब आता है

Miscarriage Ke Baad Period Kab Aata Hai: अगर हर महीने आपका period ( माहवारी ) ...