Sote Samay Muh Se बहती Laar से छुटकारा पाने के लीये करे ये घरेलू उपाय

Muh se laar girna बच्चो के लिए एक आम परिस्थिति है क्यूंकि उनका अपने मुह पर control नहीं होता। पर कभी कभी यह बड़ो में भी देखा जा सकता है। जो की बहुत ही शर्मनाक और ख़राब परिस्थिति साबित हो सकती है।

कोई कोई तो इसके बारे में बात करने में भी हिचखिचाते है। मुह से लार बहने के कही कारन हो सकते है। आम दौर पर ये सोते वक़्त ही ज्यादा देखा जाता है, जब हम बहुत ही कम अपने मुह में मौजूद लार को निगलते है।

Sote Samay Muh Se बहती Laar से छुटकारा पाने के लीये करे ये घरेलू उपाय

इस कारन ये लार सोते वक़्त हमारे मुह के किनारों से बह जाता है। पर अगर लार की बहने को रोकना चाहते है तो सबसे पहले इसका कारन जान ना परेगा।

Muh se laar nikalne ka karan

Muh se laar nikalne ka karan हो सकती है। जिन ब्यक्ति को नस से जुडी तकलीफ है या किसी तरह के infection है , वह ब्यक्ति के मुह से जागते वक़्त भी लार बह सकता है।

और भी कही तरह के हालातों के वजह से मुह से लार बहने की बीमारी हो सकती है। जैसे brain में चोट होना, कही बार stroke हो जाना, या नसों में खराबी होना। muh se laar nikalna के कुछ गंभीर कारन भी हो सकते है।

  • Epiglottitis नामक हिस्से का फुल जाना। epiglottitis हमारे गले की अन्दर के हिस्से को काहा जाता है।इस कारन हम ठीक से निगल नहीं पाते है और हमारे muh se laar girna शुरू हो जाती है।
  • हमारे मुह के एक तरफ की muscle का कमजोर पड़ जाना। जिस कारन मुह से लार बहना। इस बीमारी को Bells Palsy भी काहा जाता है।
  • हमारे शारीर में होने वाले autoimmune disorder जिससे हमारे नसों को बेहद नुकसान पौंच सकती है। यह भी muh se laar girna का कारन हो सकता है।

तो ये था muh se laar nikalne ka karan। तो अब जान लेते है के इस बीमारी को खत्म कैसे करे।

Sote waqt muh se laar girne ke ilaj

हम यहाँ आपको कुछ तरीके बातायेंगे जिसको अजमाके आप muh se laar nikalna रुक सकता है।

Sote waqt muh se laar girna

सोते वक़्त करवटे बदलना

कोई भी ब्यक्ति का आम दौर पर सोते वक़्त ही मुह से लार बहती है। पर करवटे बदलने के कारन मुह से लार बहना बंद हो जाता है।

आप wedge तकिया के माध्यम से भी अपने आप को पूरी रात एक ही जगह रख सकते है , बिना करवटे लिए। इससे भी muh se laar nikalna बंद हो जाता है। wedge तकिया आपको बाजार में मिल जायेगा।

Botox injection का इस्तेमाल

जिन ब्यक्ति को नसों में तकलीफ की वजह से मुह से लार बहने की बीमारी होती है, उन्हें botox injection के इस्तेमाल से भी ठीक किया जा सकता है।

Doctor ultrasound करने के बाद उस ब्यक्ति के salivary glands ( थूक जमा करने वाले ग्रंथि ) में botox injection लगाते है।

इस कारन salivary glands में मौजूद मांस पेशी सून पड़ जाती है और ठुक के बाहाओ को रोक देती है।

इसके कारन मिह से लार बहना बंद हो जाती है। इस injection का असर ६ महीनो तक रहता है। फिर दुबारा injection लेनी पड़ती है।

पर याद रखे यह सिर्फ नसों की तकलीफों की वजह से मुह से लार बहने वाले ब्यक्ति के लिए ही Doctor की सलाह पर इस्तेमाल किया जाता है।

लार बंद करने की दवाई ले

जिन ब्यक्ति को नसों की खराबी की वजह से मुह से लार बहने की बीमारी होती है , उन्हें Doctor की सलाह पर दवाई जरुर लेनी चाहियें।

ये उस ब्यक्ति के कान के पीछे रखने वाली दवाई होती है। उसमे से ७२ घंटे तक दवाई निकलता रहता है। जो मुह से बहने वाली लार को रोकता है।

नसों की तकलीफ होने वाले ब्यक्ति का ना सिर्फ मुह से लार बह सकता है बल्कि और भी तकलीफें जैसे नींद लगना, खुजली होना, heart beat बड जाना आदि भी हो सकते है। तो इन सब को ख़त्म करने के लिए Doctor की सलाह जरुर ले।

Allergy और sinus की तकलीफ का इलाज करे

allergy या sinus infection के कारन आपके नाक हमेशा बंद रहते है और मुह में थूक या लार भी ज्यादा बनते है।

इस कारन मुह से लार बहने की संभावना होती है। बंद नाक होने के कारन वह ब्यक्ति नाक से ठीक से सांस नहीं ले पाता। और उसे मुह से सांस लेनी पड़ती है।

जिस दौरान मुह से लार बह सकता है। तो muh se laar nikalna को रोकने के लिए allergy और sinus का इलाज जरुर करवाएं।

Speech therapy करवाना

Muh se laar girna की कारन पता होने पर doctor उस ब्यक्ति को speech therapy करवाने की सलाह दे सकते है। speech therapy से आपके jaw और मसुरे दोनों ही मजबूत होते है और अच्छे से काम करते है।

इसको करने से उस ब्यक्ति को अपने होंठ भी सोते वक़्त बंद रखने की छमता होती है। जिस कारन muh se laar girna भी रुक जाती है। पर इस speech therapy से ठीक होने में कुछ वक़्त लग सकता है।

Muh se laar girna ke ilaj

Surgery करवाना

Surgery करवाना एक आखरी option होती है। doctor की सलाह पर surgery सिर्फ उन्ही ब्यक्तियों का होता है जिसके नासो के खराबी के वजह से बहुत ज्यादा परिमाण लार बहने की बीमारी हो।

जो ब्यक्ति हर इलाज करवा चुका हो पर फिर भी muh se laar girna बंद ना हुआ हो, तो un ब्याक्तिओं के लिए doctor surgery करवाने की सलाह दे सकते है। इस surgery में sublingual या submandibular नामक salivary glands को निकाल दिया जाता है।

Muh se laar girna की तकलीफे

जब कोई ब्यक्ति अपने मुह के थूक को घटक नहीं पाते है तो वो लार बनके मुह से बहने लगते है। और जबरदस्ती अपने ठुक को घताकने पर भी lungs की बीमारी जैसे pneumonia हो सकती है।

मुह से लार बहने वाले ब्यक्ति के मनोबल भी कम हो जाते है , और वह समाज के किसी भी कार्य में हिस्सा लेने से घबराते है। और वह किसी से बात करने से भी शर्म महसूस करते है।

तो यह था आपके लिए muh se laar nikalne ka karan और उनके इलाज। इन इलाजो को अपनाकर आप सोते वक़्त मुह से लार बहने को रोक सकते है।

पर याद रखे अगर कोई शारीरिक तकलीफ या नसों की तकलीफों के वजह से आपके मुह से लार बहता है, तो doctor की सलाह जरुर ले। और अगर आपके मुह से लार बहने की वक़्त और परिमाण ज्यादा हो तो बिना कोई इलाज किये ना रहे।

क्यूंकि इलाज ना करवाने से यह आपके मानसिकता पर भी प्रभाव डाल सकता है। जिससे आपके मनोबल और कम हो सकती है। तो समय पर सही इलाज चुने और muh se laar nikalna खत्म करे।

About Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy
Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

shukranu badhane ke upay

शुक्राणु की कमी से छुटकारा पाने का 7 पावरफुल घरेलु इलाज

Shukranu Badhane Ke Upay: पुरुषो के fertilty ( उपजाऊपन) के बाड़े में जानने के लिए ...

Pet Ki Garmi Ka Ilaj hindi

पेट की गर्मी से तुरंत मिलेगा राहत अगर करे ये 6 उपाय

Pet Ki Garmi Ka Ilaj: पेट की गर्मी (Abdominal Heat) के कारन आपको पेट में ...