प्रेगनेंसी

प्रेगनेंसी में ट्रेवल : गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित यात्रा कैसे करे

Travel during Pregnancy In Hindi
Dr. Oishi Roy
Written by Dr. Oishi Roy

Travel during Pregnancy In Hindi: गर्भावस्था के दौरान यात्रा करने पर थकान महसूस हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान किसी किसी महिलाओं को यात्रा करने से इस लिए डर लगता है की उनके गर्व में पल रहे बच्चे का कोई नुक्सान हो।

और इस कारन गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को घर में रहने की सलाह दी जाती है। पर ऐसा कोई भी परिस्थिति आ सकता है जिसमे आपको Travel करने की जरुरत पड़े। तो ऐसे हालात में अपने डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही आप यात्रा कर सकते है।

Travel during Pregnancy In Hindi

Travel during Pregnancy In Hindi

क्या गर्भावस्था के दौरान यात्रा करना ठीक है ? Is It Safe to Travel during Pregnancy In Hindi

विषय - सूची

गर्भावस्था के दौरान शुरुआत के कुछ महीनो को छोड़कर आपका यात्रा करना सुरक्षित है। पर अगर गर्भावस्था के दौरान आपको किसी भी तरह के उलझन हो तो ऐसे में यात्रा करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर ले।

यात्रा करने का सबसे सुरक्षित समय होता है गर्भावस्था के दुसरे पड़ाव में जो की ३ महिना गुजर जाने के बाद होता है। गर्भावस्था के आखरी पड़ाव में भी आप Travel कर सकते है।

पर ३६ हफ्ते हो जाने बाद गर्ववती महिलाओं को यात्रा करने की सलाह नहीं दी जाती। क्यूंकि ३६ हफ्ते के दौरान बच्चे को जन्म देने का समय हो जाता है, और किसी भी वक़्त प्रसव पीड़ा शुरू हो सकता है। आप इसे पढ़ सकते हैं: Pregnancy Mein Aisa Kya Khaye Jisse Bacha Gora Aur Sundar Ho

गर्भावस्था के पहले पड़ाव के दौरान यात्रा करना -Traveling During the First Trimester in Hindi

अक्सर गर्भावस्था के शुरुआत के ३ महीनो तक यात्रा करने की सलाह नहीं दी जाती। गर्भावस्था के इस पड़ाव पे कई तरह के शारीरिक समस्याएँ हो सकते है जैसे सुबह नींद ना खुलना, चक्कर आना, उलटी लगना, आदि।

इस समय miscarriage ( गर्वपात ) का डर भी अधिक होता है। इस कारन गर्भावस्था के पहले पड़ाव में लंबी यात्रा ना करना ही बेहतर है।

पर अगर किसी आपातकालीन परिस्थिति के कारन आपका यात्रा करना जरुरी हो तो डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही Travel करे। आप इसे पढ़ सकते हैं: Pregnancy Ke Dauran Kaise Sona Chahiye in Hindi

गर्भावस्था के दुसरे पड़ाव के दौरान यात्रा करना -Traveling During the Second Trimester in Hindi

Pregnancy Ke Dauran aram se sone ke nuske

अगर आपको गर्भावस्था के दौरान कोई लम्बी यत्रा पर जाना हो तो दुसरे पड़ाव यानि ३ महीने के बाद के समय में जाना सबसे सुरक्षित और अच्छा होता है।

गर्भावस्था के दुसरे पड़ाव में चक्कर आना, उल्टी जैसी समस्याएँ काफी कम हो जाते है जिस कारन आपको यात्रा करने में ज्यादा तकलीफ नहीं होती।

पर बच्चे की साबधानी के लिए Travel करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर ले। यह भी पढ़ें: प्रेगनेंसी के दौरान हीमोग्लोबिन बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय

गर्भावस्था के आखरी पड़ाव के दोरान यात्रा करना -Traveling During the Third Trimester in Hindi

गर्भावस्था के आखरी पड़ाव यानी ६ महीने गुजर जाने के बाद से आपका यात्रा करना सुरक्षित है। पर इस समय Travel करने पड़ आपको बहुत ज्यादा थकान महसूस हो सकता है।

ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि आपके गर्व में मौजूद बच्चे का वजन बड़ने लगता है। पर जैसे की हमने पहले भी बाताया ३६ हफ्ते के बाद यात्रा ना करना ही बेहतर है।

गर्भावस्था के दौरान सड़क यात्रा -Travelling By Car during Pregnancy in Hindi

कम दुरी वाले जगहों पड़ जाने के लिए आप गर्भावस्था के दौरान सड़क यात्रा कर सकते है। तो गर्भावस्था के दौरान अगर आपको सड़क यात्रा करना पड़े तो कुछ चीजे जरुर ध्यान में रखे।

traveling during pregnancy

सड़क Travel करने से पहले अपने डॉक्टर का prescription और जितने भी test reports है सब साथ में रखे, जरुरी हालात के लिए अपने साथ mobile phone जरुर रखे, अपने साथ कुछ खाने की चीजे रखे ताकि आपको बाहर की चीजे ना खानी पड़े, अपने साथ पर्याप्त परिमाण में पानी रखे जो यात्रा करते समय आप पी सके।

सड़क यात्रा करते समय क्या ना करे -What to Do Not While Traveling In the car during Pregnancy in Hindi

  • ज्यादा लम्बी यात्रा ना करे।
  • बाहर की चीजे ना खाएं।
  • ज्यादा tight कपड़ा न पहने।
  • टूटे फूटे और गड्ढे वाले सड़को से यात्रा ना करे।

गर्भावस्था के दौरान हवाई यात्रा -Air Travel during Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान हवाई यात्रा करना सुरक्षित होता है क्यूंकि इसमें उतर चदाव नहीं होती। तो लम्बी यात्राओं पड़ जाने के लिए हवाई यात्रा करना ही बेहतर है।

गर्भावस्था के दौरान हवाई Travel करने से पहले अपनी सारी दवाई साथ मे रखे, ढीला ढाला कपड़ा पहने, ढीला और बड़े जूते पहने ताकि पांव में सुजन होने कारण आपको कोई तकलीफ ना हो,

कोशिश करे की आपका seat सामने की तरफ और बाहर की तरफ हो ताकि आप आराम से पांव फैला कर बैठ पायें, हवाई अड्डे पर आपकी जांच होने के समय machine के बदले हाथो से जांच करने की सलाह दे। आप इसे पढ़ सकते हैं: Kaise Pata Lagaye Ki Garbh Me Ladka Hai Ya Ladki

हवाई यात्रा करते समय क्या ना करे – What to Do Not While Traveling In the Air during Pregnancy in Hindi

  • कोई अच्छे या बड़े airlines के साथ ही यात्रा करे।
  • गर्भावस्था के ३६ हफ्ते गुजर जाने के बाद हवाई यात्रा ना करना ही बेहतर है।

गर्भावस्था के दौरान ट्रेन यात्रा -Travel during Pregnancy By Train In Hindi

गर्भावस्था के दौरान ट्रेन में Travel करना आरामदायक हो सकता है। और ट्रेन में यात्रा करने पर आपको चक्कर आने की समस्या भी नहीं होती। आपको ट्रेन अन्दर काफी जगह मिल सकता है आराम से बैठने और टहलने के लिए।

pregnant women

तो गर्भावस्था के दौरान ट्रेन से यात्रा करने से पहले ट्रेन की टिकट पहले से ही book करके रखे, अपने साथ एक तकिया रखे जिसके इस्तेमाल से आप आराम से बैठ सके, हमेशा lower birth ( निचे का seat) ही ले,

अगर आप अकेले Travel कर रहे हो तो अपना सामान उठाने के लिए कुली को साथ जरुर रखे, हो सके तो toilet के नजदीक अपना seat book करे, ढीला और आरामदायक कपड़े और जूते पहने। यह भी पढ़ें: सिर्फ नाममात्र का दर्द होकर ही हो जाएगी Normal Delivery अगर कर लिए यह 9 उपाय

ट्रेन में यात्रा करते समय क्या ना करे – What to Do Not While Traveling In the Train during Pregnancy in Hindi

  • घर से कुछ खाने की चीजे ले जाए और बाहर की चीजे ना खाए|
  • जब ट्रेन चलता हो तो उस समय पेशाब ना जाए, ट्रेन रुकने के बाद जाए।
  • गर्भावस्था के दौरान अकेले यात्रा ना करे , किसी को साथ में जरुर ले।
  • चलती ट्रेन में ना चडे।

गर्भावस्था के दौरान कौन सी हालत में यात्रा नहीं करना चाहिए – When Should a Pregnant Woman Stop Traveling In Hindi?

pregnancy_normal delivery ke upay

  • अगर गर्वपात होने की संभावना हो – अगर आपको पहले कभी गर्वपात हो गया हो तो गर्भावस्था के दौरान Travel ना करे।
  • एक से ज्यादा बच्चे से गर्वधारण करना – अगर आपके गर्व में एक से ज्यादा बच्चा बड राहा हो तो ऐसी हालात में डॉक्टर आपको यात्रा ना करने की सलाह दे सकते है। क्यूंकि गर्व में एक से ज्यादा बच्चा मौजूद होने पर आपका प्रसव पीड़ा कभी भी शुरू हो सकता है।
  • किसी किसी महिलाओं को उच्च रक्तचाप की समस्या होती है। तो ऐसे में यात्रा करना आपके और आपके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान gestational diabetes से पीड़ित महिलाओं को अपना ख़ास ख्याल रखने की जरुरत पड़ती है। इसलिए gestational diabetes से पीड़ित महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान Travel नहीं करनी चाहिए।

Pregnancy Me Kon Se Time Travel Nahi Karna Chahiye

  • अगर गर्भावस्था के दौरान किसी महिला को बहुत ज्यादा खून बहने की समस्या हो, तो ऐसे में यात्रा बिलकुल ना करे।
  • अधिक गर्मी से बचके रहे और ढीला कपड़ा पहने। शारीर में किसी भी तरह की तकलीफ होने पर आराम जरुर करे।
  • गर्भावस्था के दौरान यात्रा करते समय धक्का मुक्की ना करे। भीड़ ख़त्म होने के बाद ही आगे बड़े।
  • गर्वाव्स्थ्य के दौरान यात्रा करते समय साफ़ bathroom का इस्तेमाल करे। क्यूंकि गंदे bathroom के इस्तेमाल से infection हो सकता है।

तो ये था आपके लिए गर्वव्स्थ्या के दौरान यात्रा (Travel during Pregnancy) करने  के कुछ तरीके। पर गर्भावस्था के दौरान यात्रा करने से पहले अपनी डॉक्टर की सलाह जरुर ले। गर्वव्स्थ्या के दौरान Travel करने से पहले काफी योजनायें बनानी पड़ती है ताकि आप और आपका बच्चा दोनों ही सुरक्षित और स्वस्थ रहे।

Image License : pexels.compixabay.com under Creative Commons License

About the author

Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy

Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Comment