प्रेगनेंसी के शुरुआती 10 लक्षण से जाने महिला प्रेग्नेट है या नही

क्या आप जानते है ? जब तक ना आपका अगला माहवारी आयें तब तक आपको पाता नहीं चल पाता की आप गर्ववती है। क्यूंकि जैसे ही आप गर्ववती होते है आपके गर्व में तैयार भ्रूण uterus में चिपक जाता है।

जिस कारन गर्ववती होने के बाद आपको माहवारी नहीं होती। पर माहवारी ना होने के आलावा भी आप गर्ववती है या नहीं जान ने के कही और लक्षण भी होते है।

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों के 10 लक्षण

तो इस article पर हम आपको pregnancy ke shuruati lakshan के बारे में बातायेंगे। हालाँकि माहवारी बंद हो जाना गर्ववती होने का एक महेत्पूर्ण लक्षण है, पर इसके आलवा भी आपके शारीर गर्ववती होने के कही और संकेत दे सकता है। तो आईये जान लेते है वो लक्षण क्या है।

pregnancy ke shuruati lakshan

implantation ( भ्रूण का uterus के साथ चिपकना) के कारन bleeding या दर्द

अगर आप बिना कोई protection लिए शारीरिक समबन्ध करते है, तो जाहीर है की आप गर्ववती बन सकते है। implantation होना तब काहा जाता है जब भ्रूण uterus के परत के साथ चिपकता है।और धीरे धीरे बड़ता जाता है।

और इस कारन गर्ववती होने के बावजूत कभी कभी कोई कोई महिलाओं को हालका bleeding और दर्द हो सकता है। ये bleeding कुछ घंटे या कुछ दिनों में अपने आप ही रुक जाता है।

पर ज्यादा bleeding होना miscarriage होने का लक्षण हो सकता है। तो ऐसे में डॉक्टर की सलाह जरुर ले।

स्तन का भारी हो जाना – Garbhavastha Me Stan Ka Bhari Hona

स्तन की आकार में बदलाओं भी गर्ववती होने के लक्षण है। जैसे ही pregnancy ke shuruati lakshan होते है आपके शारीर में hormones की मात्रा में बदलाओं होने लगते है।यह भी पढ़ें: Stan Cancer Ke Lakshan: स्तन कैंसर का पता कैसे लगाएं

Breast badhane ke gharelu upay

आप देख सकते है की आपका स्तन पहले से बड़ा दिखेगा और nipples ज्यादा काला और गाड़ा हो जायेगा।

थकान महसूस होना – Garbhavastha Me Thakan Hona

गर्ववती होने के एक और लक्षण है थकान महसूस होना। आपके शारीर में progesterone नामक hormone के बड जाने के कारण आपको थकान महसूस हो सकता है। थकान कम करने के लिए अच्छा नींद ले और चाय, coffee कम पीयें।

सुबह के वक़्त कमजोरी महसूस होना – Pregnancy Me Kamjori Ke Lakshan

गर्ववती होने के शुरुआत के महीनो में सुबह उठने के बाद कमजोरी य थकान महसूस होना बहुत आम समस्या है। इसे हम morning sickness भी कहते है।

Pregnancy के दौरान कैसे सोना चाहियें

HCG ( Human chronic gonadotropin ) नामक hormone के बड जाने के वजह से आपको morning sickness हो सकती है।

ज्यादा प्यास लगना – Thirsty During Pregnancy In Hindi

DRINK WATER पानी पीना

गर्वाव्स्थ्या के दौरान शारीर में खून की मात्रा बड जाते है जिसके कारन आपको बार बार प्यास लग सकता है। और ज्यादा पानी पीने के वजह से आपको बार बार toilet भी लग सकता है।

बार बार toilet (मूत्र) लगना – Garbhavastha Me Toilet Aana

गर्ववती होने के तुरंत बाद ही आपको बार बार toilet लगने की समस्या हो सकती है। ये बहुत आम लक्षण होते है। और toilet जाने की चाह रात को ज्यादा बड सकते है। इसका कारन भी शारीर में मौजूद hormones की मात्रा में बदलाओं के वजह से होते है।

सांस फूलना – Breathlessness During Early Pregnancy In Hindi

गर्वाव्स्थ्या में शुरुआत के दिनों में आपको सांस लेने में थोरा दिक्कत हो सकता है या आपका सांस फुल सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि आपके गर्व में बड रहे भ्रूण को भी oxygen की जरुरत होती है, जिस कारन आपके शारीर में oxygen की चाह बड जाती है।

ये सांस फूलने की समस्या गर्वावास्थ्या के आखरी महीनो तक चल सकता है। जितना आपके गर्व में भ्रूण बढता जाएगा उतना ही आपको सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। इस समस्या को कम करने के लिए हर रोज गर्वाव्स्थ्या के दौरान किये जाने वाले excercise करे, धीरे धीरे और आराम से सांस ले और ढीला कपड़ा पहने। यह भी पढ़ें: Saans Phoolna रोकने के लिए अपनाये यह चमत्कारी 5 घरेलू इलाज

खाना खाने की इच्छा ना होना – Pregnancy Me Khana Na Khana

Pregnancy Me Khana Na Khana

गर्ववती होने के बाद आपको कोई कोई खाना खाने में अच्छा नहीं लग सकता। ऐसा भी हो सकता है की जो खाना आप पहले बहुत ज्यादा पसंद करते थे वो खाना pregnancy ke shuruati lakshan होने के बाद अच्छा ना लगे। लगभग ८५% महिलाएं गर्वाव्स्थ्या के शुरुआत के महीनो में ऐसा महसूस करते है।

कब्ज होना – Constipation During Pregnancy In Hindi

शारीर में hormones की मात्रा बड जाने के कारन आपकी हजम करने की छमता भी कम हो जाती है। जिस कारन आपको constipation की समस्या हो सकती है।

शारीर का तापमान बड जाना – Pregnancy Ke Suruati Temperature

Periods time pe aane ke liye kya karna chahiye

Pregnancy ke shuruati lakshan होने के बाद आपको महसूस होगा की आपके शारीर का तापमान बड गया है। आम दौर पर माहवारी से पहले महिलाओं के शारीर का तापमान बड जाता है, और माहवारी खतम होने साथ साथ तापमान घट जाता है। पर गर्वाव्स्त्या के दौरान तापमान ज्यादा ही रहता है। यह भी पढ़ें: Digital Thermometer How to Use: थर्मामीटर में बुखार की जाँच कैसे करें

तो ये था आपके लिए pregnancy ke shuruati lakshan। हालाँकि माहवारी का बंद ना होने तक यह नहीं काहा जा सकता की आप गर्ववती है। ये सब लक्षण किसी और वजह से भी हो सकते है। तो सही जानकारी के लिए डॉक्टर से जांच जरुर करवाएं और pregnancy test जरुर करे।

Image License : pexels.compixabay.com under Creative Commons License

About Dr. Oishi Roy

Dr. Oishi Roy
Hey, this is Dr. Oishi Roy a general physician. My main concern is to Make people aware of their health issues. and I also, try to provide them with helpful and easy remedies. My focus is to make a healthy and disease-free society.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

pregnancy me hemoglobin kaise badhaye

प्रेगनेंसी के दौरान हीमोग्लोबिन बढ़ाने के 7 घरेलू उपाय

Pregnancy Me Hemoglobin Kaise Badhaye: गर्वाव्स्थ्या के दौरान खून में haemoglobin की मात्रा का बड़ना ...

Pregnancy Ke Baad Pet Kam Karne Ke Tarika

प्रेगनेंसी के बाद पेट की चर्बी कम करने का 7 आसान तरीका

क्या आप अभी अभी बच्चो को जन्म दिए है ? पर आपका पेट देख कर ...